Kundli me pitra Dosh and Upaye (foresightindia.com)
जन्म के समय व्यक्ति अपनी Kundli  में बहुत से योगों को लेकर पैदा होता है.यह Yog अच्छे भी हो सकते हैं, खराब भी हो सकते हैं, मिश्रित फल प्रदान करने वाले भी हो सकते हैं.कई बार ऐसा होता है की आपके पास सभी कुछ होते हुए भी आप परेशान रहते है.
इसका क्या कारण हो सकता है? कई बार व्यक्ति को अपनी परेशानियों का कारण नहीं समझ आता तब वह Jyotish सलाह लेता है. तब उसे पता चलता है कि उसकी Kundli  में  Pitr-Dosh बन रहा है और इसी कारण वह परेशान है,
ज्योतिष गणना में Dosh को बहुत माना जाता है. कुछ दोष शुभ स्थिति बताते हैं तो कुछ अस्थिरता. जैसे सूर्य को ग्रहण लग जाने पर अंधकार फैल जाता है और चन्द्रमा को ग्रहण लगने पर चांदनी खो जाती है उसी प्रकार जीवन में बनता हुआ काम अचानक रूक जाता हो तो इसे Kundli  दोष का प्रभाव समझ सकते हैं.  ऐसा ही एक दोष पितृ दोष है, Pitr Dosh Kundli  में एक ऎसा दोष है जो  सब दु:खों को एक साथ देने की क्षमता रखता है, इस दोष को Pitr Dosh के नाम से जाना जाता है।पितरों से अभिप्राय व्यक्ति के पूर्वजों से है .जो पित योनि को प्राप्त हो चुके है .ऎसे सभी पूर्वज जो आज हमारे मध्य नहीं, परन्तु मोहवश या असमय मृ्त्यु को प्राप्त होने के कारण, आज भी मृ्त्यु लोक में भटक रहे है .अर्थात जिन्हें मोक्ष की प्राप्ति नहीं हुई है, उन सभी की शान्ति के लिये Pitr Dosh निवारण और उपाय किये जाते है .ये पूर्वज स्वयं पीडित होने के कारण, तथा पितृ्योनि से मुक्त होना चाहते है, परन्तु जब आने वाली पीढी की ओर से उन्हें भूला दिया जाता है, तो Pitr Dosh उत्पन्न होता है .Pitr Dosh की जाच के लिए कुंडली में सबसे पहले सूर्य की स्थिति को देखा जाता है